The Best of Tenali Raman stories for Kids

Hello Guys! Welcome to Alertsvala. Today i’m going to tell you about Tenali Raman Stories, I know most of you guys not like cartoons and kids stories but, just trust me Tenali Raman stories not one of them. If you read this stories you brain IQ will increse and it will give you lot’s of … Read more

तंत्र – Horror Stories in Hindi

Horror Stories in Hindi

तंत्र – Horror Stories in Hindi तंत्र – Horror Stories in Hindi – मुकेश और मैं एक ही कंपनी में काम किया करते थे। एक रोज हमें ट्रेनिंग पर भेज दिया गया। हमारी इससे पहले औपचारिक बातें ही हुआ करती थी।पर ट्रेनिंग पर हमें एक दूसरे को जानने का मौका मिला। हमें कमरे में एक … Read more

सबसे बढ़कर कौन? – Vikram Vetal Hindi Story

Vikram Vetal Hindi Story part 9

सबसे बढ़कर कौन? – Vikram Vetal Hindi Story Vikram Vetal Hindi Story – अंग देश के एक गाँव मे एक धनी ब्राह्मण रहता था। उसके तीन पुत्र थे। एक बार ब्राह्मण ने एक यज्ञ करना चाहा। उसके लिए एक कछुए की जरूरत हुई। उसने तीनों भाइयों को कछुआ लाने को कहा। वे तीनों समुद्र पर … Read more

स्त्री का पति कौन? Vikram Vetal Hindi Story

Vikram Vetal Hindi Story

स्त्री का पति कौन? Vikram Vetal Hindi Story Vikram Vetal Hindi Story – धर्मपुर नाम की एक नगरी थी। उसमें धर्मशील नाम को राजा राज करता था। उसके अन्धक नाम का दीवान था। एक दिन दीवान ने कहा, “महाराज, एक मन्दिर बनवाकर देवी को बिठाकर पूजा की जाए तो बड़ा पुण्य मिलेगा।” राजा ने ऐसा … Read more

लड़की किसको मिलनी चाहिए? – Vikram vetal Hindi Story

Vikram Vetal Hindi Story part 6

लड़की किसको मिलनी चाहिए? – Vikram vetal Hindi Story Vikram Vetal Hindi Story – उज्जैन में महाबल नाम का एक राजा रहता था। उसके हरिदास नाम का एक दूत था जिसके महादेवी नाम की बड़ी सुन्दर कन्या थी। जब वह विवाह योग्य हुई तो हरिदास को बहुत चिन्ता होने लगी। इसी बीच राजा ने उसे … Read more

ज्यादा पापी कौन? Vikram Vetal Hindi Story

Vikram Vetal Hindi Story part 5

ज्यादा पापी कौन? – Vikram Vetal Hindi Story Vikram Vetal Hindi Story – भोगवती नाम की एक नगरी थी। उसमें राजा रूपसेन राज करता था। उसके पास चिन्तामणि नाम का एक तोता था। एक दिन राजा ने उससे पूछा, “हमारा ब्याह किसके साथ होगा?” – तोते ने कहा, “मगध देश के राजा की बेटी चन्द्रावती … Read more

ज्यादा पुण्य किसका? Vikram vetal Hindi story

Vikram Vetal Hindi Story

ज्यादा पुण्य किसका? – Vikram vetal Hindi story Vikram vetal Hindi story – वर्धमान नगर में रूपसेन नाम का राजा राज करता था। एक दिन उसके यहाँ वीरवर नाम का एक राजपूत नौकरी के लिए आया। राजा ने उससे पूछा कि उसे ख़र्च के लिए क्या चाहिए तो उसने जवाब दिया, हज़ार तोले सोना। सुनकर … Read more

Chanakya niti in Hindi

Chanakya niti in Hindi – चाणक्य नीति Chanakya niti in Hindi – चाणक्य अपनी नीति शास्त्र के लिए जाने जाते थे | दूर दूर तक विदेशों में लोग उनकी नीतियों का लोहा मानते थे| यही सुनकर एक बार एक बार एक चीनी दर्शनिक चाणक्य से मिलने भारत आया| जब वह चाणक्य के घर उनसे मिलने … Read more

किसकी स्त्री? (Vikram Vetal part-3)- Hindi Kahaniya

Vikram-Vetal Hindi Kahaniya Part 3

किसकी स्त्री? – Hindi Kahaniya Hindi Kahaniya – यमुना के किनारे धर्मस्थान नामक एक नगर था। उसे नगर में गणाधिप नाम का राजा राज करता था। उसी में केशव नाम का एक ब्राह्मण भी रहता था। ब्राह्मण यमुना के तीर पर जप-तप किया करता था। उसके एक लड़की थी, जिसका नाम मालती था। वह बड़ी … Read more

पाप किसको लगा? (Vikram-Vetal Part-2) – Hindi Kahaniya

Vikram-Vetal Hindi Kahaniya Part 2

पाप किसको लगा? (Vikram-Vetal Part-2) – Hindi Kahaniya काशी में प्रतापमुकुट नाम का राजा राज्य करता था। उसके वज्रमुकुट नाम का एक बेटा था। एक दिन राजकुमार दीवान के लड़के को साथ लेकर शिकार खेलने जंगल गया। घूमते-घूमते उन्हें तालाब मिला। उसके पानी में कमल खिले थे और हंस किलोल कर रहे थे। किनारों पर … Read more

विक्रम और वेताल (Vikram-Vetal) – Hindi Kahaniya

विक्रम और वेताल (Vikram-Vetal) – Hindi Kahaniya – हुत पुरानी बात है। धारा नगरी में गंधर्वसेन नाम का एक राजा राज करते थे। उसके चार रानियाँ थीं। उनके छ: लड़के थे जो सब-के-सब बड़े ही चतुर और बलवान थे। संयोग से एक दिन राजा की मृत्यु हो गई और उनकी जगह उनका बड़ा बेटा शंख … Read more

ईश्वर तू ही अन्नदाता है Hindi Kahaniya

ईश्वर तू ही अन्नदाता है Hindi Kahaniya

ईश्वर तू ही अन्नदाता है – Hindi Kahaniya किसी राज्य में एक प्रतापी राज्य हुआ करता था। वो राजा रोज सुबह उठकर पूजा पाठ करता और गरीबों को दान देता। अपने इस उदार व्यवहार और दया की भावना की वजह से राजा पूरी जनता में बहुत लोक प्रिय हो गया था। रोज सुबह दरबार खुलते … Read more