Shree Mahadevi Verma Biography in Hindi

महादेवी वर्मा हिंदी भाषा की प्रख्यात कवियत्री है और वह आधुनिक हिंदी कविता में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। वह छायवादी युग के प्रमुख स्तंभों में से एक है। महादेवी वर्मा को आधुनिक युग की मीर भी कहा जाता है।

महादेवी वर्मा का जन्म 26 मार्च 1907 में फ़र्रुख़ाबाद, उत्तर प्रदेश, भारत में हुआ था। उनके पिता का नाम श्री गोविंद प्रसाद वर्मा और उनकी माता का नाम हेमरनी देवी है। उनके पिता एक कॉलेज के अध्यापक थे।

कवयित्री महादेवी वर्मा का जीवन परिचय, जन्म, कविता, मृत्यु, रचनाएँ
Mahadevi Verma (Poet) Biography, Sahityik Parichay, Story, Poems, Essay In Hindi

Points Information
नाम महादेवी वर्मा
जन्म 26-03-1907
आयु 80 वर्ष
पिता का नाम गोविन्द प्रसाद वर्मा
माता का नाम हेमरानी देवी
पति का नाम नारायण वर्मा
पेशा कवियत्री
भाई – बहन एक भाई , एक बहन
अवार्ड पद्मा विभूषण
मृत्यु 11-09-1987
मृत्यु स्थान इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश
Brief information about Shree Mahadevi Verma

महादेवी की शिक्षा । Mahadevi Verma’s Education

महादेवी वर्मा में अपनी शिक्षा इंदोर में की थी और संस्कृत, अंग्रेज़ी, संगीत और चित्रकला की शिक्षा अध्यापकों के द्वारा घर पर ही दी जाती थी। उसके बाद बिचमे महादेवी जी की शादी कर दी कई शादी के बाद महादेवी जी ने 1919 में  क्रास्थवेट कॉलेज इलाहाबाद में प्रवेश लिया और कॉलेज के छात्रालय में रहने लगी

महादेवी जी 7 वर्ष की उम्र से कविता लिखने लगी थी। महादेवी वर्मा ने 1925 में मेट्रिक्स परीक्षा पास की और तब तक वो एक सफल कवियत्री बन चुकी थी। विविध पत्र-पत्रिका में महादेवी जी के काव्य प्रकाशित होने लगे थे।

कॉलेज में सुभद्रा कुमारी चौहान महादेवी जी की ख़ास मित्र थी। सुभद्रा जी महादेवी जी का हाथ पकड़कर सखियों के बीच में ले जाती और कहेती “सुनो, ये कविता भी लिखती है “।

इसे भी पढ़े: रहीम दास के दोहे और जीवन चरित्र

महादेवी वर्मा ने 1932 में इलाहाबाद विश्वविद्यालय से एम एम एस की पढ़ाई संस्कृत में पूर्ण की।

महादेवी का वैवाहिक जीवन | Mahadevi verma’s Marriage Life

महादेवी जी का विवाह 1916 में श्री स्वरूप नारायण वर्मा से हुआ। श्री वर्मा लखनऊ मेडिकल कॉलेज के बोर्डिंग हाउस में रहने लगे। महादेवी वर्मा वैवाहिक जीवन से विरक्त रही है कारण चाहे जो भी रहा हो, लेकिन दोनो सम्बंध मधुर रहे है।

Mahadevi verma biography in Hindi
Mahadevi Verma – Indian Poet

महादेवी जी का जीवन संयसिनी जैसा था। उन्होंने अपने पूरे जीवन में हमेशा श्वेत वस्त्र पहने है, हमेशा तख़्त पर सोई ओर कभी भी शीशा नहि देखा। 1966 में पति की मृत्यु के बाद स्थायी रूप से इलाहाबाद में सहने लगी।

श्रीमती महादेवी की कृतियाँ | Mahadevi Verma Poems

कृतियाँ साल
निहार 1930
रश्मि 1932
नीरजा 1934
सांध्यगीत1936
दीपासिखा 1942
सप्तपर्णा1949
प्रथम आयाम 1974
अग्निरेखा 1990

दोस्तों आशा है की आपको यह लेख पसंद आया होगा आप हमें सोशल मीडिया पर फ़ॉलो कर सकते है और यूटूब पर हमारी चैनल “Knowledge Dunia” को सब्स्क्राइब कर ले।

1 thought on “Shree Mahadevi Verma Biography in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Hello Guest